Politics National Oct/30/2019 09:46 am (38) (3483)

महाराष्ट्र की तस्वीर साफ होते ही हरियाणा में उतरेंगे शाह, पुराने दरबारियों में कौन रहेगा कौन नहीं

हरियाणा में भाजपा के 75 पार के सपने को लगे ब्रेक पर आलाकमान सख्त है। पचहत्तर से ऊपर सीटों की उम्मीद संजोए बैठी भाजपा 40 पर कैसे सिमटी इसको लेकर मंथन जल्द ही होगा।

post

अमर उजाला||हरियाणा

हरियाणा में भाजपा के 75 पार के सपने को लगे ब्रेक पर आलाकमान सख्त है। पचहत्तर से ऊपर सीटों की उम्मीद संजोए बैठी भाजपा 40 पर कैसे सिमटी इसको लेकर मंथन जल्द ही होगा। फिलहाल पार्टी के संकटमोचक अमित शाह इस समय महाराष्ट्र में उलझ गए हैं। 

महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर फंसा पेंच जब तक नहीं निकलेगा, हरियाणा पर मंथन नहीं हो जाएगा। इसलिए महाराष्ट्र की गुत्थी सुलझने का इंतजार है। जिसके बाद सूबे के मुख्यमंत्री से लेकर मंत्री विधायक, सांसदों और प्रभारी से यह पूछा जाएगा कि लोकसभा में दस सीटें जीतने के बाद हरियाणा में सरकार बहुमत में क्यों नहीं आई। 

 

हार के कारणों की समीक्षा के बाद अमित शाह मंत्रिमंडल विस्तार की तरफ ध्यान देंगे। इस बीच सीएम मनोहर लाल ने हरियाणा विधानसभा के सत्र की घोषणा कर दी है। सत्र में मंत्रियों की मौजूदगी को लेकर प्रदेश की जनता की निगाहें टिकी है। 

 

मंत्रिमंडल विस्तार विधानसभा सत्र के बाद टल सकता है। इस बार होने वाले विस्तार में अमित शाह का अहम रोल होगा। मंत्रियों के नाम से लेकर विभाग के बंटवारे तक में शाह की अहम भूमिका होगी, क्योंकि विभागों को लेकर पेंच फंस सकता है। 

 

सरकार में भागीदारी के बाद डिप्टी सीएम बने दुष्यंत चौटाला को पावरफुल विभाग का इंतजार रहेगा। ऐसे में सरकार दुष्यंत को कौन सा विभाग देती है। इस पर प्रदेश की जनता की नजरें टिकी हैं। भारी भरकम मंत्रालय को लेकर दुष्यंत की भी अंदरूनी चाह है।

post
post
post
post
post
post
post
post
post
post
post
post
post
post
post
post